Search This Blog

Saturday, 12 September 2015

कामयाबी

           कामयाबी

रोने से तकदीर बदलती नहीं है,
वक्त से पहले रात ढलती नहीं है |
दूसरों की कामयाबी लगती है अासान मगर,
कामयाबी रास्ते में पड़ी मिलती नहीं है |

मिल जाती कामयाबी इत्तफ़ाक से अगर,
सच भी यही है कि वह पचती नहीं है |
कामयाबी पाना है पानी में आग लगाना,
पानी मे आग आसानी से लगती नहीं है |

क्यों लगता है ऐसा जिंदगी में अक्सर,
दुनिया अपने जज़्बात समझती नहीं है |
हर शिकस्त के बाद टूटकर जो संभल गया,
फिर कौन सी बिगड़ी बात बनती नहीं है |

हाथ बाँधकर बैठने से पहले सोच ऐ दिल,
अपने-आप कोई जिंदगी सँवरती नहीं है |
हँसकर आगे बढ़ते जाना क्योंकि,
रोने से तकदीर बदलती नहीं है ||

अज्ञात

4 comments:

  1. कुछ वर्ष पहले पढ़ी इन पंक्तियों ने मुझे इतना प्रभावित किया कि मैने इन्हें अपने पास संजो लिया और लेखक/लेखिका के प्रति आभार के साथ मैं आज इन्हें साझा कर रही हूँ

    ReplyDelete
  2. these beautiful lines actually contain the reality.

    ReplyDelete
  3. these beautiful lines actually contain the reality.

    ReplyDelete
  4. these beautiful lines actually contain the reality.

    ReplyDelete