- ANTARDHWANI

ANTARDHWANI

मन की आवाज़ 

Tuesday, 26 September 2017

जिस प्रकार खरगोश से आसमान गिरने की खबर सुनकर जंगल के सभी जानवर उसके पीछे-पीछे भागने लगे वही हाल हमारे देश के बुद्धिजीवियों का भी है और मीडिया के तो कहने ही क्या.....
कोई भी खबर मिली नहीं कि हमारे देश के बुद्धिजीवी बिना सोचे समझे अपनी कलम का जादू दिखाना शुरू कर देते हैं, देश के जागरूक नागरिक का दिखावा करते हुए भूल जाते हैं कि सिक्के के दोनों पहलुओं को जानकर ही उनपर राय देना जागरूक नागरिक का कर्तव्य है।
मालती मिश्रा

2 comments:

  1. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 28-09-2017 को चर्चा मंच पर चर्चा - 2741 में दिया जाएगा
    धन्यवाद

    ReplyDelete
    Replies
    1. दिलबाग विर्क जी बहुत-बहुत आभार।

      Delete

Thanks For Visit Here.