Search This Blog

Thursday, 29 March 2018

आज हिन्दू ही हिन्दू का शत्रु बना हुआ है
कहीं ब्राह्मण तो कहीं दलित बना हुआ है,
सोने वालों को जगा लें
सुबह की किरण दिखाकर या रब
उसे कैसे जगाएँ
जिसने अक्ल का दरवाजा बंद कर लिया है।
#मालतीमिश्रा

No comments:

Post a Comment