Search This Blog

Tuesday, 5 June 2018


छवि आधारित घनाक्षरी

देश का बढ़ाया मान, टीम का है अभिमान
क्रिकेट का बादशाह, माही कहलाता है।।

पिता का बढ़ाया मान, राँची की वो पहचान
विश्वकप का विजेता, देश को बनाता है।।

शान्त चित्त रहा सदा, क्रोध जतलाता नहीं
अंतस का जोश सब, खेल में दिखाता है।।

आदर्श पुत्र व भाई, आदर्श पिता व पति
सभी रिश्तों को भी वह, दिल से निभाता है।।
मालती मिश्रा, दिल्ली

2 comments:

  1. माही महिमा सुंदर है

    ReplyDelete
    Replies
    1. हृदयतल से आभार आदरणीया🙏

      Delete